प्यार की वजह बनी फांसी की सज़ा Suicide Love Story in Hindi

Suicide Story in Hindi – Very Sad Suicidal Short Stories Hindi – Super Sad True Love Story in Hindi – Suicide Love Hindi Story – Very Emotional Love Story in Hindi – Suicide Heart Touching Love Story in Hindi

Suicide Story in Hindi :

संजना आज बहुत दुखी रहती है। और हो भी क्यों न, आज उसे उसकी मोहब्बत राकेश से दूर जो किया जा रहा था। आज उसे लड़के वाले देखने आ रहे हैं। वो अंदर से टूट सी गई है, लेकिन घर वालों के दबाव में वो कुछ नहीं कर सकती।

वो यह शादी नहीं करना चाहती, लेकिन उसके घर वाले जबरदस्ती उसकी शादी राजू नाम के एक बनिया से करने जा रहे हैं।

आखिर कैसे संजना को राकेश से मोहब्बत हो जाती है। आखिर क्यों संजना के घर वाले इन दोनों की शादी के खिलाफ हैं। आइए कुछ समय पीछे चलकर यह सब जानते हैं।

Suicide Story in Hindi

आज संजना स्कूल से घर आ रही थी। वो 12th क्लास में पढ़ती है। रास्ते में उसे राकेश नाम का लड़का दिखता है जो कि संजना से उम्र में काफी बड़ा रहता है। उसकी उम्र करीब 30 साल रहती है। वो अपने दोस्तों के साथ गली में बैठा रहता है और संजना को देखकर सींटी मारता है और उसे बुरी नज़र से देखता है।

संजना अभी सिर्फ़ 18 साल की एक मासूम लड़की है। उसे राकेश की यह हरकत अजीब लगती है। इसलिए वो चुपचाप सिर झुकाए हुए अपने घर चली जाती है। दूसरे दिन भी स्कूल जाते वक्त ऐसा ही कुछ होता है।

Suicide Story in Hindi – Very Sad Suicidal Short Stories Hindi – Super Sad True Love Story in Hindi – Suicide Love Hindi Story – Very Emotional Love Story in Hindi – Suicide Heart Touching Love Story in Hindi

अब तो जैसे राकेश संजना के इंतजार में रोज़ रास्ते में बैठने लगा और जब संजना रास्ते से गुजरती तो वो उसको घूरता रहता और गंदे इशारे करता। संजना उसकी ऐसी हरकतों को इग्नोर करती है और सीधा घर चली जाती है।

संजना यह बात अपने घर में किसी को नही बताती क्योंकि वो सोचती है कि उसका स्कूल जाना बंद हो जाएगा। एक महीना ऐसे ही गुज़र जाता है। एक दिन गली में सन्नाटा देखकर राकेश संजना का हाथ पकड़ लेता है तो संजना एकदम घबरा सी जाती है। वो चिल्लाने के लिए जैसे ही अपना मुंह खोलती है। राकेश उसका मुंह बंद कर देता है और कहता है, देखो संजना मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं और तुमसे शादी करना चाहता हूं। हर रोज़ मैं रास्ते में इसलिए बैठा रहता हूं, ताकि तुम्हारी एक झलक पा सकूं।

राकेश उससे कहता है, अगर तुम भी मुझसे प्यार करती हो तो यह लो मेरा नंबर, और इस नंबर पर मुझे मैसेज कर देना।

इतना कहकर राकेश वहां से चला जाता है। संजना एकदम सकते में पड़ जाती है। फिर घर जाकर राकेश का दिया हुआ Letter पढ़ती है। उसमें राकेश का नंबर रहता है और साथ ही यह लिखा रहता है, “संजना मैं तुमसे बहुत मोहब्बत करता हूं। रात दिन बस तुम्हारे ही सपने देखता हूं। अगर तुम मुझे न मिली तो मैं मर जाऊंगा। अगर तुम भी मुझसे प्यार करती हो तो इस नंबर पर मुझे मैसेज करना, मैंने तुमसे मिलने के लिए बेताब हूं, तुम्हारा प्रेमी राकेश।”

संजना एक मासूम और भोली लड़की रहती है। इसलिए राकेश की बातों में आ जाती है। वो उसकी हवस को मोहब्बत समझ बैठती है और खुशी खुशी उसे मैसेज करती है, “हैलो राकेश, मैं संजना।” राकेश उसका मैसेज पढ़कर खुश हो जाता है कि वो अपने मकसद में कामियाब हो रहा है।

फिर संजना को रिप्लाई करता है कि रुको मैं तुम्हें कॉल करता हूं। संजना कॉल रिसीव करती है और राकेश से कहती है क्या सच में आप मुझसे मोहब्बत करते हैं? राकेश उसको यकीन दिलाता है और कहता है, हां बिल्कुल I Love You! अगर यकीन नहीं है तो बताओ मैं तुम्हारे लिए अपनी जान दे सकता हूं। फिर तो तुम्हें यकीन हो जाएगा न।

राकेश उसे अपने प्यार के जाल में फंसाने के लिए यह सब कहता है। संजना भी उसकी ऐसी बातों से अब पूरी तरह से राकेश पर भरोसा करने लगती है और कहती है,

“जान दें आपके दुश्मन, मुझे तो आपकी जिंदगी चाहिए।”

Suicide Story in Hindi – Very Sad Suicidal Short Stories Hindi – Super Sad True Love Story in Hindi – Suicide Love Hindi Story – Very Emotional Love Story in Hindi – Suicide Heart Touching Love Story in Hindi

इस तरह राकेश और संजना रोज़ कॉल पर बातें करने लगते हैं। राकेश संजना को मिलने के लिए भी बुलाता है। संजना उसे दूर किसी पार्क या रेस्टोरेंट में मिलती है। इस तरह दिन ब दिन राकेश उसे अपने प्यार के जाल में फंसाता जाता है।

अब राकेश को भरोसा हो जाता है कि वो जो भी संजना से कहेगा, वो संजना मानेगी। इसलिए वो संजना को कॉल करके कहता है कि मैं तुमसे मिलना चाहता हूं। संजना कहती है कि अभी कल ही तो मिले हैं पार्क में। अब आज फिर कैसे मिल सकते हैं। इतनी भी बेसब्री कैसी है मुझे देखने की। कहो तो फोटो भेज देती हूं।

राकेश कहता है, तुम समझ नहीं रही हो। मैं तुमसे बहुत मोहब्बत करता हूं, I Love You। मैंने हम दोनों के लिए एक होटल में कमरा बुक किया है। मैं तुम्हारे साथ वहां पर कुछ टाइम बिताना चाहता हूं।

संजना भोली ज़रूर रहती है, लेकिन वो अपने कल्चर अपनी मर्यादा जानती है और समझ जाती है कि राकेश उसे किसी होटल में मिलने के लिए क्यों कह रहा है। इसलिए वो राकेश से कहती है कि मैं जानती हूं कि तुम मुझसे बहुत प्यार करते हो और मेरे साथ टाइम बिताना चाहते हो, लेकिन जब तक हमारी शादी नहीं हो जाती, तब तक ऐसे किसी होटल में मिलना ठीक नहीं।

राकेश के बहुत समझाने के बाद भी जब संजना नहीं मानती तो राकेश समझ जाता है कि संजना शादी से पहले उसके जाल में नहीं फंसने वाली। अगर वो उसको हासिल करना चाहता है तो उसे संजना से शादी करनी होगी।

यह भी पढ़ें – मजबूरी में डॉक्टर ने दिया धोखा

इसलिए दो दिन बाद वो संजना से कहता है कि मैं तुमसे शादी करना चाहता हूं। मेरे मां-बाप, भाई-बहन तो कोई हैं नहीं। सिर्फ कुछ निठल्ले दोस्त हैं। इसलिए मैं ही तुम्हारे घर तुम्हारी फैमिली से रिश्ते की बात करने आऊंगा।

संजना राकेश के शादी के Praposal से बहुत खुश हो जाती है। लेकिन उसे अभी घर आने से मना कर देती है। वो कहती है कि मेरे भी बाबा नहीं हैं, लेकिन मां और एक बहन है। मैं पहले उनसे बात कर लेती हूं, फिर तुम मेरे घर रिश्ता लेकर आना। राकेश मान जाता है।

दूसरे दिन संजना अपनी मां से कहती है कि वो राकेश से प्यार करती है और उससे शादी करना चाहती है। यह सुनकर संजना की मां को शॉक लगता है। क्योंकि वो राकेश को जानती हैं कि वो कितना लोफर और मवाली लड़का है।

वो पहले तो संजना को डांटती हैं, लेकिन फिर बाद में उसे समझाती हैं कि राकेश उसके लिए ठीक नहीं है। लेकिन संजना उसके बारे में कुछ बुरा नहीं सुनना चाहती।

तीन दिन ऐसे ही गुज़र जाते हैं, लेकिन लाख गिड़गिड़ाने के बाद भी संजना की मां नहीं मानती और उसकी शादी कराने के लिए रिश्ता ढूंढने लगती है। संजना यह बात राकेश को बताती है तो वो संजना से भागकर शादी करने के लिए कहता है।

लेकिन संजना बदनामी के डर से ऐसा करने के लिए मना कर देती है। एक हफ़्ते बाद संजना की मां संजना के लिए एक अच्छा रिश्ता ढूंढ लेती है। आज संजना को रिश्ते वाले देखने के लिए आने वाले हैं। राकेश से बिछड़ने के गम में संजना बहुत उदास रहती है। लड़के वाले संजना को पसंद कर लेते हैं।

संजना की मां को भी लड़का यानी राजू बहुत पसंद आता है। दो महीने बाद संजना और राजू की शादी रहती है। यह बात संजना राकेश को बताती है तो राकेश उसे यह शादी तोड़ने के लिए कहता है, लेकिन संजना उससे कहती है कि वो मजबूर है। संजना की ज़िद के आगे जब राकेश की नहीं चलती तो वो संजना से दूसरे दिन आखरी बार मिलने के लिए कहता है।

Suicide Story in Hindi – Very Sad Suicidal Short Stories Hindi – Super Sad True Love Story in Hindi – Suicide Love Hindi Story – Very Emotional Love Story in Hindi – Suicide Heart Touching Love Story in Hindi

वो उसे एक होटल के रूम में बुलाता है। वो संजना से कहता है कि तुम मुझसे आखरी बार मिल लो, वरना मैं अपनी जान दे दूंगा। संजना सोचती है, राकेश कहीं कुछ गलत न कर बैठे इसलिए वो दूसरे दिन उससे मिलने चली जाती है।

होटल के रूम में जब राकेश संजना से मिलता है तो वो अपना मकसद पूरा करने की कोशिश करता है। वो कहता है संजना मैं तुम्हें बहुत प्यार करता हूं। तुम किसी और की हो जाओ यह मैं कभी बर्दाश्त नहीं कर सकता। इतना कहकर राकेश संजना के क़रीब जाता है।

फिर राकेश संजना को गलत तरह से टच करता है। संजना को राकेश का इस तरह का बर्ताव पसंद नहीं आता तो वो राकेश को धक्का देती है। संजना के इस तरह धक्का देने से राकेश को गुस्सा आ जाता है। वो संजना को थप्पड़ मारता है और उससे जबरदस्ती करने की कोशिश करता है। संजना उसे फिर जोर से धक्का देकर जैसे तैसे वहां से भाग जाती है।

घर आकर वह बहुत सदमे में रहती है। वो सोच भी नहीं सकती थी कि राकेश उसके साथ ऐसा करेगा। कुछ टाइम के बाद संजना की राजू से शादी हो जाती है। संजना राकेश को एक बुरा ख़्वाब समझकर भूलने लगती है, क्योंकि राजू संजना को बहुत प्यार करता है।

राजू Monday से Saturday तक अपनी बनिया की दुकान संभालता है और इतवार को वो अपनी बीवी संजना को घुमाने लेकर जाता है। कुछ साल ऐसे ही हंसी खुशी बीत जाते हैं। संजना और राजू की दो बेटियां होती हैं, उनके होने से दोनों में और प्यार बढ़ जाता है। सात साल इसी तरह गुज़र जाते हैं।

एक दिन राजू संजना और अपनी बेटियों को लेकर Sunday को किसी पार्क में जाता है। संजना को वहां राकेश दिख जाता है। राकेश संजना को देखकर उसके पीछे पड़ जाता है और सबसे नज़र छुपाकर एक लेटर उसकी तरफ फेंकता है।

संजना न चाहते हुए भी वो Letter उठा लेती है और पढ़ती है। उसमें लिखा होता है। अगर अपने रिश्ते को बचाना चाहती हो तो मुझे इस नंबर पर मैसेज करो और जैसा मैं कहूंगा तुम्हें वैसा करना होगा। वरना तुम्हारे पति और बेटियों को ज़िंदा नहीं छोडूंगा।

संजना लेटर पढ़कर बहुत डर जाती है और घर जाकर सोच में पड़ी रहती है। फिर वो राकेश को मैसेज करके समझाने की कोशिश करती है कि वो उसकी जिंदगी से चला जाए, लेकिन वो नहीं मानता। वो अकेले में उससे होटल में मिलने को कहता है।

अब राकेश रोज़ रोज़ मैसेज और कॉल करके संजना को टॉर्चर करता है। संजना मजबूर होकर राकेश से मिलने जाती है तो वो उसके साथ जबरदस्ती करने की कोशिश करता है, लेकिन संजना फिर भाग जाती है। घर वापस आकर वो सदमें में रहती है।

यह भी पढ़ें – ईंट-पत्थर वाला प्यार

दूसरी तरफ कॉल और मैसेज से राकेश उसे धमकी देता रहता है कि अगर संजना ने उसकी बात नहीं मानी तो वो उसकी जिंदगी बर्बाद करके रख देगा। उसकी बेटियों और पति की जान ले लेगा।

रोज़ रोज़ के टॉर्चर से संजना एकदम थक जाती है और डिप्रेशन में चली जाती है। डिप्रेशन बहुत ज्यादा बढ़ता जाता है, जिसकी वजह से वो एक दिन कमरे में पंखे से लटक कर फांसी लगा लेती है।

संजना के इस तरह अचानक फांसी लगाकर मरने से राजू एकदम डिप्रेशन में आ जाता है। उसकी बेटियां भी अपनी मां के इस तरह सुसाइड करने से फूंट फूंटकर रोती हैं।

Suicide Story in Hindi – Very Sad Suicidal Short Stories Hindi – Super Sad True Love Story in Hindi – Suicide Love Hindi Story – Very Emotional Love Story in Hindi – Suicide Heart Touching Love Story in Hindi

राजू जिन्दगीभर अकेला रहता है। वो दूसरी शादी नहीं करता और अपनी बेटियों की परवरिश में अपनी जिंदगी गुजार देता है। उसे बस यही बात काट खाती थी कि आखिर क्यों उसकी पत्नी संजना ने आत्महत्या की। अगर एक बार वो अपनी तकलीफ मुझसे बता देती तो मैं कुछ कर पाता।

Moral – कभी कभी लोग जिसे प्यार समझते हैं वो हवस का फेंका हुआ जाल होता है। गलत लोगों से मोहब्बत करके कभी कभी जान तक से हाथ धोना पड़ जाता है। इसलिए कभी भी किसी अजनबी पर भरोसा करने से पहले सौ बार सोचें।

Leave a Comment

Translate »
error: Content is protected !!