प्यार और धोखा Love Story in Hindi Episode 2

Hindi Story with Moral – Love Story in Hindi – Real Sad Love Story in Hindi

Love Story Hindi :

नूरी के घर में जो कुछ भी हुआ, वो सब आरिफ़ की अम्मी घर वापस आकर आरिफ़ को बताती हैं। और अपने गुस्से का इज़हार करती हैं।

आरिफ़ गुस्से में कहता है – “अम्मी आपको उनसे यह कहने की क्या ज़रूरत थी कि मेरा और नूरी का चक्कर चल रहा है। मैंने आपको मना किया था न उनसे ये सब कहने को। आपने फिर भी……! आपने सब बिगाड़ कर रख दिया अम्मी। क्या आपको थोड़ी सी भी अपने बेटे की खुशियों की परवाह नहीं है?”

Love Story Hindi

आरिफ़ की अम्मी – “मुझे उनकी बातों से गुस्सा आ गया था और इसलिए मैने नूरी की अम्मी को सब बता दिया। मैं तेरे कहने पर वहां रिश्ता मांगने गई थी, तेरी फिक्र, तेरी परवाह थी मुझे इसलिए गई। लेकिन अब कभी नहीं जाउंगी। अब तू जिये या मरे, लेकिन मैं वहां दोबारा अपनी बेइज्जती कराने नहीं जाने वाली।” इतना कहकर आरिफ़ की अम्मी गुस्से में वहां से चली जाती हैं।

आरिफ़ अफ़सोस करते हुए मन ही मन में सोचने लगता है कि अब क्या होगा, कैसे मैं नूरी से शादी कर पाऊंगा? इतना सोचते हुए आरिफ़ कमरे से बाहर आ जाता है और सबसे अलग होकर नूरी को कॉल करता है।

नूरी कॉल उठती है – “Hello, आरिफ़ तुम कैसे हो? आज सबकुछ गड़बड़ हो गया, हमारा रिश्ता हमेशा-हमेशा के लिए खत्म हो गया। अब हम कभी एक दूसरे से शादी नहीं कर पाएंगे। लगता है कि हमारी किस्मत में एक दूसरे से मिलना लिखा ही नहीं है।” इतना कहकर नूरी फ़ोन पर ज़ोर-ज़ोर से रोने लगती है।

आरिफ़ नूरी को समझाते हुए – “नहीं हमारा रिश्ता इतना कमजोर नहीं है, जो इतनी आसानी से टूट जाएगा। तुम पहले रोना बंद करो और ध्यान से मेरी बात सुनो। अब मैं तुम्हारे घर खुद तुम्हारा रिश्ता मांगने आऊंगा और मोहब्बत का सारा इल्जाम अपने ऊपर ले लूंगा। मैं तुम्हारे दामन पर कोई भी दाग़ नहीं लगने दूंगा, यह मेरा वादा है तुमसे, समझी।”

Hindi Story with Moral – New Love Story Hindi – Real Sad Love Story in HindiHindi Love Story

नूरी पहले थोड़ा हिचकिचाती और डरती है, लेकिन फिर आरिफ़ के बहुत समझाने के बाद वह हां कह देती है। फिर आरिफ़ दूसरे दिन ही नूरी के घर उसके मां-बाप से शादी की बात करने जाता है।

आरिफ़ नूरी के मां-बाप से – “मैं आप दोनों से कुछ कहना चाहता हूं। उम्मीद करता हूं कि आप दोनों मेरी बात को समझेंगे और गुस्सा बिल्कुल भी नहीं करेंगे।”

नूरी के पिता – “क्या कहना चाहते हो तुम खुलकर बोलो”?

आरिफ़ – “मैं आपकी बेटी नूरी से बहुत मोहब्बत करता हूं और उससे शादी करना चाहता हूं। लेकिन इसमें नूरी की कोई गलती नहीं है। यह एक तरफा मोहब्बत है, जो मैं नूरी से करता हूं। मैं पूरी इज़्ज़त और प्यार के साथ आपसे नूरी का रिश्ता मांगने आया हूं। मैं आपसे वादा करता हूं कि मैं नूरी को किसी भी तरह की कोई कमी नहीं होने दूंगा। मैं उसे बहुत खुश रखूंगा।”

आरिफ़ ने काफ़ी देर तक नूरी के मां-बाप को समझाया और अपनी मोहब्बत का यकीन दिलाया। फिर आखिरकार वो मान गए और आरिफ़ से कहा कि ठीक है। हमें तुम्हारी मोहब्बत पर भरोसा होने लगा है। लेकिन पहले हम एक बार अपनी बेटी से भी पूछेंगे कि क्या वह इस रिश्ते के लिए राज़ी है या नहीं। अगर वह राज़ी होती है तभी हम भी हां कह सकते हैं। क्योंकि यह उसकी पूरी ज़िंदगी का सवाल है। आरिफ़ भी उनकी हां में हां मिलाता है।

नूरी की मां नूरी को बुलाती है और कहती है – “आरिफ़ तुम्हारा रिश्ता मांगने आया है। क्या तुम इस रिश्ते के लिए राज़ी हो। अगर तुम्हारी रजामंदी होगी तभी हम इस रिश्ते के लिए हां करेंगे।”

नूरी दबी आवाज़ में सिर झुकाए हुए – “जैसा आप लोग सही समझें। जो आपका फैसला, वही मेरा फैसला।”

Hindi Story with Moral – Love Story in Hindi – Real Sad Love Story in HindiNew Love Story Hindi

अब नूरी के मां-बाप को भी नूरी की तरफ से तसल्ली हो जाती है और वो इस रिश्ते के लिए हां कह देते हैं। इस तरह नूरी और आरिफ़ की खूब धूमधाम से मंगनी (Engagement) हो जाती है और दोनों का रिश्ता फिक्स हो जाता। चूंकि नूरी अभी सिर्फ़ 18 साल की रहती है और कॉलेज की पढ़ाई मुकम्मल कर रही होती है, इसलिए इस रिश्ते को 3 साल के लिए लगा दिया जाता है। और 3 साल बाद ही दोनों की शादी होगी यह बात तय हो जाती है।

अब नूरी और आरिफ़ दोनों बहुत खुश थे। ऐसा लग रहा था मानों उन्हें दुनियां की सारी खुशियां एक साथ मिल गई हों। अब तो खुले आम दोनों की बातें रोज़ कॉल पर होने लगी। वो रोज़ाना घंटों एक दूसरे से बातें करने लगे। अपना सुख अपना दुख, उन्होंने क्या खाया, क्या पिया, कहां गए सबकुछ एक दूसरे से शेयर करने लगे। उनकी मोहब्बत इस कदर बढ़ गई थी कि वह एक दूसरे के बिना एक पल भी नहीं गुज़ार सकते थे। इस तरह उनका रिश्ता फिक्स हुए 2 साल बीत जाते हैं।

प्यार और धोखा : तुम मुझे भूल जाओ ! – Episode – 1

प्यार और धोखा : नूरी का Facebook पर प्यार ! Episode – 3

प्यार और धोखा : मैं आरिफ़ से शादी नहीं करूंगी! Episode – 4

प्यार और धोखा : आरिफ़ का टूटा हुआ दिल ! Episode – 5

प्यार और धोखा : नूरी का पछतावा ! Episode – 6

Leave a Comment

Translate »
error: Content is protected !!