प्यार और धोखा Hindi Love Story Episode – 5:

Love Story in Hindi – Hindi Love Story – Real Sad Love Story in Hindi – Real Love Story in Hindi

Hindi Love Story :

दो दिन बाद नूरी अपने मां बाप से कहती है – “मैं आरिफ़ से शादी नहीं करूंगी। मैं किसी और से मोहब्बत करती हूं। और उसी से शादी करना चाहती हूं।”

नूरी के मां-बाप हैरत से – “नूरी यह तुम क्या कह रही हो? तुम होश में तो हो? तुम यह क्यों भूल रही हो कि आरिफ़ से भी तुम्हारी मर्ज़ी से ही रिश्ता तय हुआ था और यह बात हम सब जानते हैं। पहले आरिफ़ तुम्हारी मोहब्बत था अब कोई और कैसे हो गया? तुम यह क्यों भूल रही हो कि आरिफ़ तुम्हारा मंगेतर है और उसके होते हुए तुम्हारा किसी गैर इंसान से बात तक करना गुनाह है और तुम चाहती हो कि हम तुम्हारा रिश्ता आरिफ़ से तुड़वाकर किसी और से जोड़ दें।”

Hindi Love Story

नूरी गुस्सा करते हुऐ – “हां आरिफ़ मेरा मंगेतर है, लेकिन अब मुझे यह बात समझ आई है कि मैं उससे मोहब्बत नहीं करती थी। वह सिर्फ मेरी पसंद था और कुछ भी नहीं। लेकिन हामिद मेरी मोहब्बत है और मैं उसी से शादी करूंगी। अगर आप लोगों ने मेरा साथ नहीं दिया तो मजबूरन मुझे इस घर को छोड़कर जाना पड़ेगा।”

नूरी के मां-बाप उसकी यह बात सुनकर कुछ वक्त के लिए Shocked हो जाते हैं।

नूरी की मां रोते हुए नूरी से कहती है – “तुम किसी गैर लड़के के लिए अपने मां-बाप को छोड़ दोगी? हम दोनों को छोड़कर किसी और के साथ भाग जाओगी? तुम अपने मां बाप की इज्ज़त को मिट्टी में मिलाओगी? जिन्होंने तुम्हें पाल-पोसकर बड़ा किया, तुम्हें हर वह खुशी दी जो तुमने चाही। आज तुम उन सभी लोगों को भूलकर एक ऐसे शख्स के लिए घर छोड़ने के लिए तैयार हो, जिसे तुम ठीक से जानती भी नहीं?

नूरी के पिता इसपर नूरी से कहते हैं – “आज समझ में आया कि आखिर क्यों तुमने आरिफ़ के बारे में झूठी-झूठी बातें बनाईं। आज पता चला कि तुमने उसको शराबी और उसका चक्कर किसी और लड़की के साथ चल रहा है ऐसा क्यों कहा। तुम आरिफ़ पर गलत इल्जाम लगाकर उससे अपना रिश्ता तोड़ना चाहती थी।  जबकि चक्कर आरिफ़ का नहीं तुम्हारा चल रहा था और इल्जाम तुमने उस बेचारे पर लगाया जो कि बेकसूर है। अरे तुम समझती क्यों नहीं रिश्ते-नाते खेल नहीं होते कि जब मन करे एक को छोड़कर दूसरे को पकड़ लो।”

नूरी के मां-बाप ने उसे बहुत डांटा और फिर काफ़ी समझाया भी। लेकिन नूरी को जैसे हामिद के प्यार के आगे अपने मां-बाप की मोहब्बत और उनका दर्द दिखाई ही नहीं दे रहा था। वह हामिद के प्यार में इस क़दर अंधी हो गई थी कि उसे सही और गलत दिखाई ही नहीं दे रहा था।

Hindi Story with Moral – New Love Story Hindi – Hindi Love Story – Real Sad Love Story in Hindi – Real Love Story in Hindi

नूरी अपने मां बाप से – “आप लोग कितनी भी कोशिश कर लीजिए, लेकिन मैं शादी करूंगी तो सिर्फ़ हामिद से ही करूंगी। यह मेरी पूरी जिंदगी का सवाल है। और यह मेरी जिंदगी है और मुझे पता है कि उसे किसके साथ गुजारनी है। इसलिए मैं यह फ़ैसला कर चुकी हूं कि शादी करूंगी तो सिर्फ हामिद से ही।”

इतने में आरिफ़ नूरी के घर आ जाता है और उन तीनों की बातें सुन लेता है। और नूरी से रोते हुए कहता है – “तुम ऐसा कैसे कर सकती हो? तुम मुझसे प्यार करती हो। हम दोनों ने साथ जीने-मरने की कसमें खाई थीं। तुम उन्हें कैसे भूल सकती हो? मैं मानता हूं कि हम दोनो में छोटे-मोटे झगड़े हुए। लेकिन झगड़ा वहीं होता है, जहां मोहब्ब्त होती है। और इसका यह मतलब नहीं कि तुम मुझे छोड़कर किसी और से शादी कर लो। देखो नूरी जो भी हुआ तुम उसे भूल जाओ। हम लोग नये सिरे से अपनी ज़िंदगी शुरू करेंगे। कुछ हफ्तों बाद हमारी शादी है न तुम मुझे कैसे छोड़ सकती हो?”

आरिफ़ नूरी को हर तरह से अपनी मोहब्बत का यकीन दिलाता है और उसे समझाने की कोशिश करता है। लेकिन नूरी की आंखों पर जैसे हामिद के नाम की पट्टी पड़ी रहती है। नूरी आरिफ़ की बात समझना तो दूर उसकी बातों को सुनना भी नहीं चाहती।

नूरी बेरुखी के साथ आरिफ़ से कहती है – “तुम मेरी मोहब्ब्त नहीं हो, सिर्फ पसंद थे। लेकिन जिसे मैं चाहती हूं वह मेरी मोहब्ब्त, मेरी ज़िंदगी, मेरा सबकुछ है। अब मेरे दिल में तुम्हारे लिए कोई जगह नहीं है। खुदा के लिए तुम यहां से और मेरी ज़िंदगी से चले जाओ। मैं तुम्हारा चेहरा भी नहीं देखना चाहती।”

New Love Story Hindi – Hindi Love Story – Real Sad Love Story in Hindi – Real Love Story in Hindi – Romantic Love Story in Hindi

आरिफ़ उदास होकर, आंखों में आंसू और दिल में दर्द लिए हुए वहां से चला जाता है। आरिफ़ के इतना समझाने के बावजूद भी नूरी अपने फैसले पर टिकी रहती है। आरिफ़ कई दिनों तक नूरी को मैसेज और कॉल के ज़रिए समझाने की कोशिश करता है, लेकिन नूरी उसकी बात नहीं मानती। वह आरिफ़ से बेरुखी से बात करती है और उसे अपनी ज़िंदगी से हमेशा हमेशा के लिए चले जाने को कहती है।

इस तरह कई हफ्ते बीत जाते हैं और आरिफ़ के लाख समझाने के बाद भी नूरी नहीं समझती। और आखिर में आरिफ़ थक हार कर रोते हुए अपना टूटा हुआ दिल लेकर नूरी की ज़िंदगी से हमेशा-हमेशा के लिए चला जाता है।

प्यार और धोखा : तुम मुझे भूल जाओ ! – Episode – 1

प्यार और धोखा : कैसे मैं नूरी से शादी कर पाऊंगा? Episode – 2

प्यार और धोखा : नूरी का Facebook पर प्यार ! Episode – 3

प्यार और धोखा : मैं आरिफ़ से शादी नहीं करूंगी! Episode – 4

प्यार और धोखा : नूरी का पछतावा ! Episode – 6

Leave a Comment

Translate »
error: Content is protected !!